देशभर में आटा से लेकर कॉफी तक की कीमतों में 17 प्रतिशत तक की हुई बढ़ोतरी

नई दिल्ली : देश में बढ़ती महंगाई के बीच रोजगार के सामान बेचने वाली एफएमसीजी कंपनियों ने आम लोगों की मुश्किलें बढ़ा दी है. बीते दो-तीन महीना में इन कंपनियों ने फूड और पर्सनल केयर से जुड़ी प्रोडक्ट के दाम में दो से 17% तक बढ़ा दिया है. टाटा, डाबर और इमामी जैसे कंपनियों ने संकेत दिए हैं कि वह भी अपने दम प्रोडक्ट के दाम बढ़ने जा रही है. कंपनियां इसकी मुख्य वजह कच्चे माल की कीमतों में बढ़ोतरी को बता रही है. वर्ष 2022 से लेकर 2023 की शुरुआत तक मार्जिन बनाए रखने के लिए कंपनियों ने कीमत बढ़ाई थी. इसके बाद कच्चे माल के दाम बढ़ने से कंपनियों ने वित्त वर्ष 2023 – 24 में कीमत बढ़ने से परहेज किया. लेकिन अब कच्चे तेल वह कम तेल की कीमतों में गिरावट के बावजूद दूध, चीनी, कॉफी, खोपरा और जो जैसे अन्य वस्तुओं की कीमत में बढ़ोतरी का रुझान है.

इन चीजों के बढ़े दाम : आईटीसी के आशीर्वाद आटे की कीमतों में 4% तक की बढ़ोतरी की है. गोदरेज कंज्यूमर प्रोडक्ट ने साबुन डिटर्जेंट की कीमतों में चार से पांच प्रतिशत वृद्धि की है. कोलगेट ने पेमल बॉडी वॉश की कीमत एक अंक में बढ़ाई है. पियर्स बॉडी वॉश में 4% बढ़ोतरी की है. एचयूएल, पीएनजी और ज्योति लैब के डिटर्जेंट ब्रांड ने चुनिंदा सामानों पर 1 से 10% की बढ़ोतरी की है. एच यू एल ने शैंपू की कीमतों में 4 से 6% और स्किन केयर प्रोडक्ट की कीमतों में 4% तक की वृद्धि की है. कॉफ़ी की कीमतों में 8 से 13% मैगी और नूडल्स की कीमत 17% का इस्तीफा किया है. ट्रेड डाटा और एनालिटिक्स के अनुसार कंपनियों ने साबुन, बॉडी वॉश, के दाम दो से नौ प्रतिशत, हेयर ऑयल के 7 से 11% और चुनिंदा फूड आइटम्स के तीन से 17% तक बढ़ा दिए हैं. आईआरसीटीसी सिक्योरिटीज ने एक नोट में लिखा है कि कंपनियां चालू वित्तीय वर्ष 2024 – 25 में कीमत औसतन 1 से 3% तक बढ़ सकती है. वही नोवा इंडस्ट्रियल इंडस्ट्रीज नेशनल एक्टिविटीज का मानना है कि एफएमसीजी की कीमतों में दम फिर बढ़ सकते हैं. बीकाजी फूड ने अपने प्रोडक्ट के दाम 2 से 4% बढ़ाने की बात है.

Related Articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Stay Connected
spot_img
spot_img
spot_img
spot_img
spot_img

Latest Articles